Sarkari Naukri: झारखंड में माचेत मास्टर के पदों पर होगी भर्ती, 12वीं पास कर सकेंगे अप्लाई – India.com हिंदी

Sarkari Naukri: झारखंड में माचेत मास्टर के पदों पर होगी भर्ती, 12वीं पास कर सकेंगे अप्लाई – India.com हिंदी

आज हम आपके साथ एक नई पोस्ट साझा करना चाहते हैं, जिसका शीर्षक है, जो लिखी गई है,

इस पोस्ट में हमने और अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की है, और इसके माध्यम से विशेष ज्ञान से लिखा गया है, जिससे यह और भी बन गई है।

Sarkari Naukri: झारखंड में माचेत मास्टर के पदों पर होगी भर्ती, 12वीं पास कर सकेंगे अप्लाई – India.com हिंदी

इसलिए, आगे बढ़ने से पहले, आपके लिए हमारी अन्य रोचक पोस्ट

Sarkari Naukri: झारखंड के प्राथमिक स्कूलों में जनजातीय व क्षेत्रीय भाषा पढ़ाने वाले माचेत मास्टर के पदों पर बहाली होने वाली है. यह भर्ती घंटी आधारित शिक्षक के रूप में की जाएगी.

Sarkari Naukri: सरकारी टीचर की नौकरी की तैयारी करने वालों को बेहतरीन मौका दिया जा रहा है. झारखंड के प्राथमिक स्कूलों में जनजातीय व क्षेत्रीय भाषा पढ़ाने वाले माचेत मास्टर के पदों पर बहाली होने वाली है. यह भर्ती घंटी आधारित शिक्षक के रूप में की जाएगी. जिसके लिए सभी स्कूलों का सर्वेक्षण किया जाएगा. झारखंड के स्कूलों में हर क्लास के लिए मास्टर की भर्ती की जाएगी. इसके तहत, संबंधित भाषा बोलने वाले हर 10-10 स्टूडेंट्स के लिए एक टीचर का चयन किया जाएगा. जिसके लिए उन्हें हर एक घंटी के हिसाब से उन्हें सैलरी दी जाएगी.

विज्ञापन देना




विज्ञापन देना

अनिवार्य योग्यता क्या है ?

इन पदों के लिए उम्मीदवार किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 45 प्रतिशत मार्क्स के साथ 12वीं पास होना चाहिए. झारखंड में कैबिनेट की एक बैठक में इस भर्ती को मंजूरी मिल गई है. प्रधान सचिव वंदना ने कहा है कि स्कूलों के सर्वेक्षण के बाद जिलावार स्कूलों का चयन किया जाएगा. जिसके बाद प्रखंड लेवल पर माचेत मास्टर की भर्ती की जाएगी.

इन पदों के लिए कितनी सैलरी दी जाएगी ?

इन पदों पर भर्ती होने वाले अप्रशिक्षित मास्टर को हर एक घंटी के लिए 120 रुपये से 200 रुपये दिए जाएंगे. वहीं प्रशिक्षित मास्टर को हर घंटी के लिए 200 रुपये से 600 रुपये तक दिया जाएगा. महीनें में 15,000 तक मिलेंगे.

यह भी पढ़ें

अधिक हिंदी-समाचार समाचार

इन भाषाओं के टीचर की होगी भर्ती

इस भर्ती के तहत, कई सारी भाषाओं के टीचरों की भर्ती की जाएगी. जिसमें जनजातीय भाषा संथाली, हो, खड़िया, कुडुख, मुंडारी, माल्तो, बिरहोर, असूर और भूमेज आदि शामिल हैं. वहीं क्षेत्रीय भाषा बंग्ला, उड़िया, पंच परगनिया, खोरठा, कुरमाली और नागपुरी भाषा के टीचर्स की भर्ती की जाएगी. इस भर्ती के जरिए क्षेत्रीय और जनजातीय भाषाओं को बढ़ावा देने काम किया जाएगा. इन भाषाओं के बच्चों को उनकी अपनी भाषा में पढ़ाई-लिखाई करने का मौका दिया जाएगा. जिससे शिक्षा के क्षेत्र में विकास होगा.  इस पहल से रोजगार और शिक्षा दोनों का स्तर ऊपर जाएगा.



प्रकाशित तिथि: 13 मार्च, 2024 9:59 पूर्वाह्न IST



अद्यतन तिथि: 13 मार्च, 2024 10:00 पूर्वाह्न IST

की ओर एक नजर डालना न भूलें।

जब तक हम नई और आकर्षक सामग्री लाने का काम कर रहे हैं, तब तक हमारी वेबसाइट पर और भी लेख और अपडेट के लिए बने रहें। हमारे समुदाय का हिस्सा बनने के लिए धन्यवाद!

#Sarkari #Naukri #झरखड #म #मचत #मसटर #क #पद #पर #हग #भरत #12व #पस #कर #सकग #अपलई #India.com #हद

Leave a Comment