Sarkari Naukri: चार वर्ष बाद भी पलामू के 485 शिक्षकों की नहीं हुई सेवा संपुष्टि – प्रभात खबर – Prabhat Khabar

Sarkari Naukri: चार वर्ष बाद भी पलामू के 485 शिक्षकों की नहीं हुई सेवा संपुष्टि – प्रभात खबर – Prabhat Khabar

आज हम आपके साथ एक नई पोस्ट साझा करना चाहते हैं, जिसका शीर्षक है, जो लिखी गई है,

इस पोस्ट में हमने और अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की है, और इसके माध्यम से विशेष ज्ञान से लिखा गया है, जिससे यह और भी बन गई है।

Sarkari Naukri: चार वर्ष बाद भी पलामू के 485 शिक्षकों की नहीं हुई सेवा संपुष्टि – प्रभात खबर – Prabhat Khabar

इसलिए, आगे बढ़ने से पहले, आपके लिए हमारी अन्य रोचक पोस्ट

Sarkari Naukri in Jharkhand|शिक्षकों की बहाली 2016 के विज्ञापन के आधार पर की गयी थी. जिसे तीन जून 2019 को जिला शिक्षा स्थापना समिति के बैठक के आधार पर विभिन्न स्कूलों में पदस्थापित किया गया था. पत…

Sarkari Naukri: चार वर्ष बाद भी पलामू के 485 शिक्षकों की नहीं हुई सेवा संपुष्टि

मेदिनीनगर, शिवेंद्र कुमार : पलामू जिले में वर्ष 2019 में प्लूस टू हाई स्कूल के लिए नियुक्त शिक्षकों का सेवा संपुष्टि नहीं हुई है. जिले में जून 2019 में 485 शिक्षकों ने योगदान दिया था. लेकिन चार वर्ष से अधिक समय बीत जाने के बाद भी सेवा संपुष्टि नहीं हुई है. जिसके कारण विभिन्न प्लस टू हाई स्कूलों में पदस्थापित शिक्षक परेशान हैं. सरकार के निर्देश के बाद भी विभाग के अधिकारी पालन नहीं कर रहे हैं. शिक्षकों के नियुक्ति के बाद दो वर्षों के लिए अस्थायी रूप से नियुक्ति पत्र विभाग द्वारा दिया जाता है, लेकिन करीब साढ़े चार वर्ष बीत जाने के बाद भी विभाग द्वारा सेवा संपुष्टि से संबंधित क्रियान्वयन नहीं किया गया. शिक्षकों का कहना है कि नियुक्ति के समय विभाग द्वारा दो वर्षों के बाद सेवा संपुष्टि करने की बात कही गयी थी. लेकिन जान बूझकर मामला को लटका कर रखा गया है. शिक्षकों को दोहन करने का प्रयास किया जाता रहा है. प्रभावित शिक्षकों ने बताया कि राज्य के चतरा, रामगढ़, हजारीबाग व गिरिडीह सहित अन्य जिलों में वर्ष 2019 में बहाल शिक्षकों की सेवा संपुष्टि हो चुकी है. लेकिन पलामू में जिले के विभिन्न स्कूलों में कार्य कर रहे शिक्षक इस बात से सहमे हुए हैं कि यदि सेवा संपुष्टि अभी तक नहीं हुई है, तो विभाग किसी भी बात का बहाना लेकर उनकी नौकरी खतरे में डाल सकता है. सेवा संपुष्टि होने के बाद विभाग की ओर से संबंधित शिक्षक के नाम से पत्र जारी किया जाता है.

शिक्षकों की बहाली 2016 के विज्ञापन के आधार पर की गयी थी. जिसे तीन जून 2019 को जिला शिक्षा स्थापना समिति के बैठक के आधार पर विभिन्न स्कूलों में पदस्थापित किया गया था. पत्र में लिखा गया था कि योगदान के बाद दो वर्षों की सेवा परीक्षयामान होगी. संतोषप्रद सेवा के आधार पर उनकी सेवा संपुष्टि विभाग द्वारा किया जायेगा. शिक्षा विभाग के सूत्रों के अनुसार, संपुष्टि नहीं होने से यदि कोई शिक्षक अंतर जिला स्थानांतरण के लिए आवेदन देता है. तो उसके आवेदन को अस्वीकृत कर दिया जायेगा. झारखंड माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष अजय कुमार ने कहा कि शिक्षकों के साथ अन्याय नही होने दिया जायेगा. विभाग के पदाधिकारी से मिलकर शिक्षकों के सेवा संपुष्टि के कार्य को अविलंब कराया जायेगा. शिक्षक समाज के धरोहर है. उन्हें परेशान करने की कोशिश न करें.

शिक्षकों की सेवा संपुष्टि का कार्य होगा : डीइओ

पलामू जिला शिक्षा पदाधिकारी अनिल कुमार चौधरी ने बताया कि शिक्षकों का सेवा संपुष्टि का कार्य हो रहा है. जिन शिक्षकों का मामला लंबित है उसे अविलंब दूर किया जायेगा. शिक्षकों को परेशान होने की जरूरत नहीं है.

की ओर एक नजर डालना न भूलें।

जब तक हम नई और आकर्षक सामग्री लाने का काम कर रहे हैं, तब तक हमारी वेबसाइट पर और भी लेख और अपडेट के लिए बने रहें। हमारे समुदाय का हिस्सा बनने के लिए धन्यवाद!

#Sarkari #Naukri #चर #वरष #बद #भ #पलम #क #शकषक #क #नह #हई #सव #सपषट #परभत #खबर #Prabhat #Khabar

Sharing is Caring...

Leave a Comment